[ad_1]

रक्षाबन्धन एक हिन्दू व जैन त्योहार है जो प्रतिवर्ष श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। राखी ईश्वर की ओर से बांधा जाने वाला साक्षात सुरक्षा कवच है। अत: मंगलकारी रक्षा बंधन पूर्ण श्रद्धा एवं विश्वास के साथ ग्रहण करें ताकि प्रभु सदैव आपकी रक्षा करें।

उत्तर भारत में सुबह ही राखी बांध दी जाती है, परन्तु जो लोग ज्योतिष एवं मुहूर्त में विश्वास करते हैं, उन्हें इस बार निम्न मुहूर्त एवं अपनी राशि के अनुसार रक्षा बंधन मनाना चाहिए।

शुभ महूर्त

इस बार 15 अगस्त, 2019 गुरुवार को रक्षा बंधन पूरा दिन शुभ है । विशेष शुभ मुहूर्त प्रात: 6 से 7.30 एवं श्रेष्ठ मुहूर्त दोपहर 12 से 1.30 बजे तक है।

इन बातों का रखें ध्यान

इस दिन भाई एवं बहनों को उत्तर दिशा एवं पश्चिम दिशा की अनावश्यक यात्रा से बचना चाहिए। विशेषकर इस दिन में दोपहर बाद 3 से 4.30 काल योग में यात्रा एवं शुभ कार्य न करें वरना दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं। विशेषकर मिथुन, धनु एवं तुला राशि वाले सावधान रहें।

वृश्चिक एवं मीन राशि वालों को यह रक्षा बंधन विशेष उपलब्धि पूर्ण सिद्ध होगा।

राखी पर सर्व-कार्य सिद्धी उपाय और टोटके

उपर्युक्त शुभ मुहूर्त में बहनें अपने भाइयों को कुमकुम, केसर या रोली से चांदी की कटोरी में रखकर तिलक करें, दीपक से आरती उतारते हुए उसकी दीर्घायु की कामना करते हुए ‘हल्ट हकीम एवं अभिमंत्रित अखरोट-बादाम’ 7 बार उतार कर दहलीज पर पधार दें। मिठाई खिलाएं भाई उपहार स्वरूप बहन-बुआ बेटी को वस्त्र-आभूषण शगुन एवं उपहार अवश्य दे।

मेष: मंगल, कामना करते हुए कुमकुम केसर का तिलक करके लाल रंग की राखी बांधे।

वृष: चांदी या सिल्वर रंग की राखी दो मुखी रुद्राक्ष या मोती वाली राखी बांधे। तिलककरे बर्फी की मिठाई खिलाएं।

मिथुन: पन्ना युक्त या हरे रंग की तोता या पैंडलम यंत्र वाली राखी बांधे, भाई का सोया हुआ भाग्य एवं राजयोग जाग जाएगा, मुराद पूरी होगी। मोतीचूर के लड्ड खिलाएं।

कर्क: सफेद या क्रीम रंग के धागे से बनी मोतियों या गोमती चक्र युक्त राखी भैया को बांधने से भाग्य चमक उठेगा। केसर युक्त खीर खिलाएं। सिंह : उगता हुआ सूर्य या सात घोड़े वाली राखी भाई को बांधे, लाल चंदन से तिलक कर पनीर की जलेबी खिलाएं।

कन्या: हरा डोरा-राखी हरा मरगज युक्त बांधे। पिस्ता खिलाएं तथा पिंजरे में बंद दो तोते आजाद करवा दें। बंद भाग्य खुल जाएगा, व्यापार एवं नौकरी चल निकलेगी। दस किन्नरों को हरे वस्त्र एवं मिठाई दें।

तुला: सफेद फिरोजी रंग की राखी. बांधे, काजू की बर्फी खिलाएं।

वृश्चिक: बालूशाही खिलाएं, लाल चंदन का टीका करके लाल, गुलाबी पतंग वाली राखी बांधे।

धनुः लड्ड एवं सोहन पापड़ी खिलाएं, केसर का तिलक कर पीली राखी बांधे। विवाह में आ रही बाधाएं दूर होंगी।

मकर: मोर वाली राखी बांधे, इमरती मिठाई खिलाएं। कच्चा दूध एवं इमरती 9 बार उतार कर काले कुत्ते को खिलाएं।

कुम्भ: आसमानी-फिरोजा रंग की राखी बांधे। ढोकला खिलाएं।

मीन: केसर का तिलक करके पीलीसंतरी कलर की राखी बांधे। केसरवटी एवं राजभोग की मिठाई खिलाएं 10 दिव्यांगों को जिमाएं, बिगड़े काम बनेंगे।

किसी लाचार-गरीब-बीमार की सेवा करें। बहन को स्वर्ण की चेन पन्ना लगाकर दें।

[ad_2]